kadha side effects, इम्यूनिटी बढ़ाने के लिये काढ़ा पिने वाले लोग ये जरूर पढ़े

Health
kadha side effects, इम्यूनिटी बढ़ाने के लिये काढ़ा पिने वाले लोग ये जरूर पढ़े:

मौजूदा दौर में कोविड-19 (Covid 19) संक्रमण से बचने के लिए लोग इम्यूनिटी को बढ़ाने (Immunity Booster) का हर मुमकिन प्रयास कर रहे हैं. हम सभी जानते हैं कि किसी भी चीज की अधिकता बुरी होती है।

वर्तमान में, हम सभी अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत और चुस्त रखने के लिए घर के बनाये हुए काढ़ा का सेवन रहे हैं। जबकि यह एक स्वस्थ आदत है, वही कुछ लोग ऐसे भी हैं, काढ़े का जरूरत से ज्यादा सेवन कर रहे हैं.  इसकी अधिकता आपके स्वास्थ्य को एक नहीं बल्कि कई तरीकों से नुकसान पहुंचा सकती है। आयुर्वेदिक औषधि हमेशा मौसम, प्रकृति, उम्र और स्थिति देखकर दी जाती है। अगर इन चीजों का ध्यान नहीं रखा जाएगा, तो फायदे की जगह नुकसान भी हो सकता है।

काढ़ा पीने के साइड इफेक्ट (kadha side effects)

अगर आप काढ़ा सही मात्रा में या फिर तासीर के हिसाब से नहीं पी रहे हैं, तो आपको इन समस्या का सामना करना पड़ सकता है.

  • नाक से खून आने (Blood from nose),
  • मुंह में छाले होने,  (Boils in the mouth/ Mouth Ulcer)
  • पेट में गर्मी बढ़ने से जलन महसूस होने (Gas, acidity)
  • पेशाब में जलन (Urine infection)
  • बदहजमी (Indigestion)
  • त्वचा पर छोटे-छोटे दाने उभर आना, मुहांसों की समस्या (Acne)

काढ़ा के साइड इफ़ेक्ट क्यों होता है? kadha side effects,

आमतौर पर काढ़े में गिलोय, दालचीनी, काली मिर्च, सोंठ, पीपली, हल्दी, अश्वगंधा जैसी औषधियों का प्रयोग किया जाता है.

इन चीजों की तासीर बहुत गर्म होती है. यदि कोई व्यक्ति जरूरत से अधिक इन चीजों का सेवन करेगा, तो उसके शरीर में गर्मी बढ़ सकती है. इसलिए आपको इन समस्या का सामना करना पड़ सकता है.

काढ़ा कैसे बनाये (औषधियों की मात्रा)

ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद (एआईआईए) की डायरेक्टर के अनुसार लोगों को काढ़े का सेवन ही करना चाहिए, किन्तु उसको तैयार करते समय औषधियों का मात्रा का विशेष ख्याल रखना चाहिए. .

अगर आप घर पर काढ़ा बना रहे हैं, तो उसकी गर्म तासीर को कम करने के लिए दालचीनी, सोंठ, काली मिर्च की मात्रा कम करके मुलेठी (Muleti), इलाइची (Cardamom)  गिलोय (Giloy) आदि डाल सकते हैं.

Buy Ayurveda Ayush Kwath Immunity Booster tablet

काढ़ा का सेवन किन लोगो को नहीं करना चाहिए

कफ दोष से प्रभावित लोगों के लिए ये काढ़ा बहुत फायदेमंद है, काढ़े के सेवन से कफ ठीक हो जाता है. कफ दोष वाले लोग दिन में 2-3 बार ऐसा काढ़ा ले सकते है.

लेकिन वात या पित्त से वाले लोगों को आयुर्वेदिक काढ़ों को पीते समय विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। ध्यान रखें कि गर्म तासीर वाली चीजें काढ़े में बहुत कम मात्रा में डालें। अगर फिर भी समस्या आ रही है, तो काढ़े को और कम मात्रा में लें और छोड़ा पतला काढ़ा पिएं. वात या पित्त से दोष वाले लोग दिन में 1 बार ऐसा काढ़ा ले सकते है.

Buy Ayurveda Ayush Kwath Immunity Booster tablet

विशेषज्ञों के अनुसार, कढ़ा बनाने में उपयोग की जाने वाली सामग्री और उनकी मात्रा किसी व्यक्ति की उम्र, मौसम और समग्र स्वास्थ्य पर निर्भर करती है।

Disclaimer: Do not use this product without appropriate medical care and consultation.  If you suspect you have a medical problem or disease please consult your physician for diagnosis and treatment.

The information and content such as text, graphics, and images by Awesomekhabar.in or by guest authors are published for educational and informational purposes only, and are not intended as a diagnosis, treatment or as a substitute for professional medical advice, diagnosis and treatment. Please consult a physician or other health care professional for your specific health care and/or medical needs or concerns or if you have any questions regarding a medical condition, disorder, treatment plan, or other health-related issues.

Immunity booster drink

Leave a Reply

Your email address will not be published.