Sanshamani Vati, आयुष मंत्रालय द्वारा इम्युनिटी बढ़ाने के लिए संशमनी वटी सेवन कैसे करे ?

Health

Sanshamani Vati, क्या आप जानते हैं कि संशमनी वटी क्या है, और संशमनी वटी के क्या फायदे हैं? आप संशमनी वटी से कई लोगों का इलाज कर सकते है।

इस औषधि को भारत सरकार के आयुष मंत्रालय द्वारा भी लोगो को बताया गया है की कोरोना महामारी के दौरान अपनी इम्युनिटी बढ़ाने के लिए इसका उपयोग कर सकते है।

संशमनी वटी क्या है? What is Sanshamani Vati ?

संशमनी वटी का निर्माण गिलोय की छाल से किया जाता है।

संशमनी वटी की खुराक कितनी ले?

अगर किसी वयस्क को संशमनी वटी का सेवन करना है तो संशमनी वटी के चूर्ण की मात्रा 250 से 500 मि.ग्रा. तथा इसकी गोलियां (sanshamani vati tablets) सुबह-शाम 2-2 गर्म जल के साथ ही लेना चाहिए|

लेकिन अगर इसका सेवन बच्चे को करना है तो इसके चूर्ण की मात्रा ऊपर दी गई मात्रा से आधी कर देना चाहिए और सुबह-शाम केवल 1 गोली देना चाहिए|

संशमनी वटी के फायदे ( Sanshamani Vati benefits)

Giloy juice pine ke fayde hindi :गिलोय कब खाना चाहिए, खाने का तरीका और फायदे

  • हर प्रकार के बुखार में संशमनी वटी के फायदे (Benefits of Sanshamani Vati in Fighting with Fever in Hindi): हर कोई कभी ना कभी बुखार से पीड़ित होते हैं। संशमनी वटी हर प्रकार के बुखार को ठीक करने में बहुत ही फायदेमंद होती है| इसलिए इसे आयुर्वेद में बुखार की सर्वोत्तम औषधि माना गया है|
  • अगर आपके शरीर में पुराना बुखार बसा हुआ है तो संशमनी वटीकी गोली या चूर्ण का सेवन प्रतिदिन 1 या 2 हफ्ते तक करना चाहिए, तो जल्द आराम मिलेगा|
  • टायफाइड में भी संशमनी वटी से लाभ पहुंचाता है।
  • अगर किसी को टीबी रोग के कारण बुखार आ रहा है तो इसका सेवन करने से लाभ मिलता है|
  • जो लोग पीलिया से ग्रस्त है वे अगर इसका सेवन करे तो ठीक हो जाते है|

पित्त दोष में संशमनी वटी के फायदे ( Sanshamani Vati  Benefits in Controlling Pita Disorder in Hindi) :

(Buy Dabur Shamshamani Vati)

  • शरीर में पित्त दोष के कारण कई तरह के रोग होने लगते हैं। अत्यधिक प्यास लगने की समस्या, हल्का बुखार, आँखों और हाथ–पैरों में जलन होना, पसीना आना आदि पित्त दोष से जुड़ी समस्याएं हैं। इसमें भी संशमनी वटी का प्रयोग करना चाहिए। पित्त दोष में संशमनी वटी को ठण्डे जल, खस के अर्क, गन्ने के रस आदि तरल पदार्थों के साथ लेना चाहिए। यह लाभ पहुंचाती है।
  • इसका सेवन करने से शाररिक कमजोरी भी दूर होती है|
  • इसका सेवन करने से खून की कमी भी दूर हो जाती है|
  • यह महिलाओं की सफेद पानी (ल्यूकोरिया) की समस्या को भी दूर करती है|
  • यह पाचनतंत्र से संबंधित समस्याओं जैसे की भूख कम लगना, भोजन सही तरह से नहीं पचना को भी दूर करती है|

संशमनी वटी के नुकसान: ( Sanshamani Vati ke side effect)

  • संशमनी वटी से किन परिस्थितियों में नुकसान हो सकते है
  • कोई गर्भावस्था महिला बिना डॉक्टर की सलाह के इसका सेवन करती है
  • कोई गंभीर बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति इसका सेवन करे |
  • इसलिए जब भी संशमनी वटी का सेवन करे तो डॉक्टर की सलाह जरुर ले लेना चाहिए|

(Buy Dabur Shamshamani Vati)

Leave a Reply

Your email address will not be published.